ऋणजल धनजल

ऋणजल धनजल[PDF / Epub] ✅ ऋणजल धनजल By फणीश्वर नाथ रेणु – Jobs-in-kingston.co.uk Best Books, ऋणजल धनजल by फणीश्वर नाथ रेणु This is very good and becomes the main topic to read, the readers are very takjup and always take inspiration from Best books, ऋणजल धनजल by फणीश्वर नाथ रेणु This is very good and becomes the main topic to read, the readers are very takjup and always take inspiration from the contents of the book ऋणजल धनजल, essay by फणीश्वर नाथ रेणु Is now on our website and you can download it by register what are you waiting for? Please read and make a refission for you. ऋणजल-धनजल फणीश्वर नाथ 'रेणु' द्वारा कृत एक रिपोर्ताज है|

रेणु को पढ़ना एक सौभाग्य है | ऋणजल-धनजल के दूसरे अध्याय में भीष्ण सूखे का विवरण है, अद्वितीय लेखन का प्रमाण है| दुःख सिर्फ इतना है की समय बीता है , बहुत समय बीता है, पर बदला कुछ नहीं है इतने बीते समय में | रेणु होते तो आज भी लिखते ऐसे रिपोर्ताज| गांव की दशा आज भी वैसी ही है, पूरे देश में और दुर्भाग्य है की मानवता भी अब तेजी से कम होती जा रही है|
पढ़िए, अगर कुछ नए ढंग का पढ़ना है| पढ़िए इसे अगर कुछ अच्छा पढ़ना है |

ऋणजल धनजल eBook ¿ Paperback
  • Paperback
  • 112 pages
  • ऋणजल धनजल
  • फणीश्वर नाथ रेणु
  • Hindi
  • 07 November 2017
  • 9788126710294